क्रन्तिकारी राष्ट्र संत तरुण सागर जी | Jain Muni Dharm

क्रांतिकारी राष्ट्रसंत को नमन बारम्बार है ,
आपके लिए दुआयों में उठते हाथ हज़ार है ।

युग के पुरोधा ,महावीर के अनुगामी हो ,
सब जानते हो गुरुवर, आप अंतर्यामी हो ।

णमोकार मंत्र की शक्ति का ये चमत्कार है,
सच में गुरुवर साधना आपकी अपरम्पार है ।

साधना की कठोरता आज समझ में आई है,
तीनों लोकों ने आज आपकी स्तुति गायी है ।

लिया निर्णय भक्ति को और प्रबल करने का ,
से जनधर्म को और सबल करने का ।

वश में जिंदगी आपके , मृत्यु भी नतमस्तक है ,
युगों युगों के बाद लगा जैसे महावीर की दस्तक है ।

आओ सब मिलकर णमोकार का जाप करें ,
हमारी श्रद्धा और विश्वास में गुरुभक्ति का ताप भरे ।

पुण्य हज़ारों जन्मों का जब कोई इंसान संजोता है ,
युगों युगों में इस धरती पर ऐसा मानव होता है

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *