गाथा बंदिनी महिलाओ के संघर्ष की कहानी  जीवंत की महिला कैदियों की मनोदशा | play

 गाथा बंदिनी

हिलाओ के संघर्ष की कहानी 
जीवंत की महिला कैदियों की मनोदशा
श्वथामा जेडी ओर राजेन्द्र  साई वाल की स्मृति में कुछ दिन पहले रविन्द्र मंच सभागार जयपुर में  प्रेमचंद लिखित नाटक गाथा बंदिनी का मंचन हुआ
: चार महिला कैदियों की कहानी है गाथा बंदिनी क्यो कोई महिला किसी की हत्या कर देती है और पहुँच जाती है जेल खाने क्या होता है जेल में  रहने वाली महिलाओं का हाल । कैसे जेल का स्टाफ हो जाता है बंदी महिलाओ के प्रति संवेदनमशील
गाथा बंदिनी नाटक मुख्य रूप से हमारे समाज की ज्वलंत समस्याओं को दर्शाने वाला एक विचारोतेजक नाटक है इस नाटक में ग्यारह  महिलाओ ने काम।किया। चार प्रमुख किरदार चंडी गीता माइ सोमा प्रमुख रहे । नाटक में भाग लेने वाले प्रमुख कलाकार  मीनाक्षी माथुर अनिता मिश्रा सरस्वती  ईशा रहे ओर जेलर की प्रभावशाली भूमिका का निर्वाह किया अनिता मिश्रा ने। महिला सशक्तिकरण के लिए बहुत सार्थक सफल प्रयास किया गया|
neera jain

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *