तुम्हारा साथ Hindi Poem | Neera Jain

                                                                                    तुम्हारा साथ

तुम्हारा साथ Hindi Poem

 

निखर रही हु। सँवर  रही हु मैं
तुम्हारा साथ पाकर,
मेरे  मन का आँगन ,
महक   रहा।
तुम्हारी यादो से।
मचल रही हु मैं
तुम्हारा  साथ पाकर
तुम्हारी यादो से खेल  रही हु।
अंगड़ाई  ले रही हु।
तुम्हे सोचकर
तुम्हारा इंतज़ार करना
तुम्हारी आहत सुनकर
भागना।
ये सब मुझे कर रहे बेक़रार
तुमसे मिलने को
हर पल
क्युकि तुम आये हो मेरी
जिंदगी में बहार बनकर
सिर्फ तुम्हारा नाम लेती तो
मुझे मिलता संबल।

हमारी स्वादिष्ठ खाने की रेसिपी ओरर अन्य आर्टिकल्स के लिए आप नीचे दिए गए लिंक पर जा सकते हैं जहा पर हम आपको बेहतरीन जानकारी देंगे आप हमारे ब्लॉग को हमेशा पढ़ते रहिये :

निम्बू का अचार Hindi Recipe Full Guide

वेजिटेबल पास्ता Full Recipe Hindi Guide

दही वाली चटनी Full Hindi Recipe Guide

पनीर तवा मसाला Full Hindi Recipe Guide


Read Our other Articles : www.neerakikalamse.com

 

 

2 thoughts on “तुम्हारा साथ Hindi Poem | Neera Jain

  1. बहुत खूब लिखा आपने
    क्युकि तुम आये हो मेरी
    जिंदगी में बहार बनकर
    सिर्फ तुम्हारा नाम लेती तो
    मुझे मिलता संबल।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *