मीट अप 37 में हुई खेल साहित्य पर चर्चा

विधार्थियो को  अपने जीवन में खेल चाहे कोई भी हो उसे महत्व देना चाहिए। खेल हमारे जीवन का हिस्सा होते हैं तो हम मानसिक तनाव को भी नियंत्रित कर सकते हैं। खेल में हम हारने  पर भी सकारात्मक तरीके से सोचते हैं। खेलो का हमारे स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता हैं। खेल आपस में सहानुभूति और सौहार्द की भावना भी विकसित करते हैं। खेल हमारे जीवन को एक सकारात्मक नजरिया देते हैं। इनसे हमारा मनोरंजन तो होता  हैं वरन ये हमारे सामाजिक जीवन को भी बेहतर  और सार्थक  बनाते हैं। 
खेल में हम हांरने के बाद फिर  उठनेऔर जीतने  कोशिश करते हैं।शिक्षा से ज्यादा हम  खेल से सीख पाते हैं। खेल में बच्चे अपना कैरिएर भी बना सकते हैं। जयपुर बुक लवर क्लब साहित्य प्रेमियो को  एक खुला मंच प्रदान करता हैं  इसी क्रम में इस बार यहाँ पर खेल साहित्य चर्चा का विषय बना।  खेल का हमारे जीवन पर सकारात्मक प्रभाव खेलो से सम्बंधित प्रेरणादायी बाते , वर्तमान में खेल और राजनीति जैसे विषयो पर चर्चा के लिए जयपुर बुक लवर्स क्लब द्वारा बुक्स ऑन स्पोर्ट्स पर 25 वी  मीट अप का आयोजन किया गया। खेल विषय पर सभी सदस्यो ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया तथा खुलकर आपस में अपने विचार एक दूसरे के साथ शेयर किये। खेलो  से सम्बंधित  विशेष  पहलुओ  और उनकी वास्तविकताओं  को सभी ने  इस  मीट अप  में बखूबी जाना।  बड़े और नामी क्रिकेट  खिलाड़ियों  सचिन तेंदुलकर  और महेंद्र सिंह धोनी के जीवन से सम्बंधित  प्रेरक घटनाओ और  पहलुओ को क्लब के सदस्यो ने आपस में शेयर किया ओर उनके जीवन में आये उतार चढ़ावो को करीब से महसूस किया।  खेल जगत से जुडी मशहूर हस्तियों की किताबो पर चर्चा हुई। थॉमस हॉउसर की लिखित ,मोहम्मद  अलिस।,टेरी  पिंटो रचित ,लूज़ बॉल्स और माइकललुडस की लिखित द ब्लाइंड साइड इवोल्यूशन ऑन अ गेम पुस्तको पर बुक लवर्स ने अपने विचार व्यक्त किये।   राजस्थान  के रणजी क्रिकेट कोच अमित असावा ने खेल पर अपने विचार व्यक्त किये।    समय के साथ खेल में आ रहे बदलावों पर  सदस्यो  अपने विचार  दूसरे से साँझा किये। जयपुर बुक लवर्स साहित्य प्रेमियो को एक ऐसा  मंच प्रदान करता हैं जहा पर जाकर हमे सभी विषयो पर बहुत सी किताबो के बारे मैं , अच्छे लेखको के बारे में जान पाते  हैं जिससे पढ़ने में हमारी रूचि स्वतः ही जाग्रत हो जाती हैं। हमारी लेखनी में सुधार होता हैं। यहाँ पर आकर सभी लोग अच्छी  ओर ज्ञानवर्धक   किताबे पढ़ने को प्रेरित होते हैं। सभी सदस्यो ने meet up 37 में खेलो  पर  चर्चा के लिए उत्साह के साथ बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। 



नीरा जैन  

One thought on “मीट अप 37 में हुई खेल साहित्य पर चर्चा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *