श्री दिगंबर अतिशय क्षेत्र पदमपुरा  जैन  मंदिर जयपुर | Yatra

  श्री दिगंबर अतिशय क्षेत्र पदमपुरा  जैन  मंदिर जयपुर

पदमपुरा  जैन मंदिर  संपूर्ण भारत मे  ऐतिहासिक  लोकप्रिय जैन  मंदिर की श्रेणी में  आता है । वैशाख शुक्ल पंचमी विक्रम संवत  2001 को मुलाजाट नाम।के व्यक्ति द्वारा खुदाई करते समय भगवान श्री पदम प्रभु की मूर्ति  प्रकट हुई। यह प्रतिमा  पदमासन में है। जयपुर कोटा राजमार्ग पर ग्राम शिवदास पूरा से छह किलोमीटर की दूरी पर यह मंदिर स्थित है।: यह मंदिर  भारत मे ही  नही  बल्कि विश्व मे प्रसिद्व है। वर्तमान में यह  भव्य  मंदिर के रूप ने बनाया गया है।: मूल मंदिर में  प्रतिमा के अतिरिक्त  10 अन्य प्रतिमा भी  विराजमान है। चार कोनो पर चार छोटे मंदिर भी बने हुए है।समूर्ण  मंदिर में मूल।प्रतिमा के अतिरिक्त दस अन्य प्रतिमा भी  विराजमान है।
मूल मंदिर के पीछे 27 फ़ीट ऊंची भगवान बाहुबली की विशालकाय मूर्ति है। मंदिर के दर्शन का  समय सुबह  5 बजे से रात्रि 9 बजे तक है।:   मंदिर परिधि में प्रवेश करते ही हमे  बहुत सकारत्मक ऊर्जा का अहसास होता है ऒर वहाँ पर बना उद्यान और हरियाली मन को आकर्षित  करती है  प्रकति की गोद मे आते ही अनूठा अहसास होता है ।अगर बाहर से कोई  जयपुर आये है तो मंदिर दर्शन कर लाभ अवश्य  प्राप्त करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *