मेरी उम्मीदें, सपने, और भय .

.सब उसी  से जुड़े हैं .  मेरे सारे आँसू पोंछे .उसी ने ..
मैं अफसोस के बिना उसे प्यार करती  हूँ …
लेकिन मैं  तो  उसे अभी तक नहीं मिली  हू !

  फिर भी  मेरा वजूद हैं तो  उनसे हे !
कोई गहरा सा रिश्ता  हैं मेरा उससे 
जो हमेशा साया   बनकर चलता हैं
 मेरे साथ ! ,ये क्या कम  हैं !