बथुआ खाने के  बहुत फायदे
बथुआ खाने के  बहुत फायदे पाचन  शक्ति को बढ़ाने वाला | Bathua Health Tips

बथआ खाने के बहुत सारे फायदे होते हैं जो हमारे स्वास्थय के लिए हितकारी होते हैं   बधुआ संस्कृत भाषा में वास्तुक और क्षार पत्र के नाम से जाना जाता हैं।

 

 बथुआ एक ऐसी साग या सब्जी हैं जो गुणों की खान होने पर भी बिना किसी विशेष परिश्रम और देखभाल के खेतो में अपने  आप उग जाता हैं।

 

1  बथुआ का साग पचने में हल्का,रूचि उत्पन्न करने वाला तथा पुरुषत्व को बढ़ाने वाला हैं। यह तीनो दोषो को शांत करके उससे उत्पन विचारो का शमन करता हैं। विशेषकर प्लीहा का विकार रक्तपित बवासीर पर अधिक प्रभावकारी हैं। 

 

  इसमेंक्षार  होता हैं। पथरी के रोग के लिए बहुत अच्छी औषद्धि हैं। इसके लिए इसका 10 . 15 ग्राम रास सवेरे शाम लिया जा सकता हैं।   

3  यह कृमिनाशक मूत्रशोधक और भुद्धिवर्धक हैं। 

 

4   किसी के जोड़ो में  सूजन    हो तो इसके बीजो का गाढ़ा लिया जा सकता हैं। 

 

5 गर्भवती महिलाओ को बथुआ नहीं खाना चाहिए।

  

6     एनीमिया होने पर इसके पत्तो के 25 ग्राम रास में पानी मिलकर पिलाये।   

 

7    अगर लिवर की समस्या हैं या  शरीर में    गांठे हो गई हैं तो पुरे पौधे को सुखाकर काढ़ा पिलाये। 

 

8     पेट के कीड़े नष्ट करने हो या रक्त शुद्ध करना हो तो इसके पत्तो के साथ नीम के पत्तो का रस मिलकर ले। 

 

9     बुखार के बाद की कमजोरी में इसका साग हितकारी होता हैं। 

 

१०    बथुआ को   साग के तौर पर खाना पसंद न होता तो इसका रायता बनाकर क्जये। 

 

11    बथुआ लिवर के विकारो को मिटा कर पाचन शक्ति को  बढ़ाता   हैं। 

 

12     यह   पाचन  शक्ति को बढ़ाने वाला भोजन में रूचि बढ़ाने वाला पेट की कब्ज मिटने वाला हैं। 

 

इसका साग खाने से बवासीर में लाभ होता हैं। 

 

आपको हमारा स्वास्थय सम्बन्धी आर्टिकल कैसा लगा please  हमे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे और हेल्थ  सम्बन्धी और भी कोई जानकारी आपके पास हो तो हमे जरूर लिखे। हमे मेल करे। हमारी मेल id हैं। nerajain9314@gmail.com 

आपका बहुत बहुत धन्यवाद।