यूट्यूब लर्निंग का महत्वपूर्ण टूल

मार्च 1918 में एग्जाम वर्ड सबसे ज्यादा सर्च किया गया।और इसी दौरान यूट्यूब पर टॉप एजुकेशन चॅनेल्स के साथ ऑडियंस इंगेजमेंट भी बढ़ यूट्यूब इंडिया के मुताबिक इन चैनल्स को देखने का समय पिछले एक साल की अवधि में ढाई गुना बढ़ा है। यूट्यूब के एजुकेशन कंटेंट में बढ़ती  दिल चस्पी इस बात की।पुष्टि करती है कि यह प्लेटफॉर्म अब महज मनोरंजन का जरिया नही रहा बल्कि यह महत्वपूर्ण लर्निंगटूल भी बना है।पिछले दो सालों में हिंदी के टॉप एजुकेशन चैनलों ने इंग्लिश ग्रोथ के चॅनेल्स को पीछे छोड़ दिया। यहाँ टेस्ट व एग्जाम प्रिपरेशन से जुड़ा कंटेंट सबसे ज्यादा पापुलर कंटेंट की श्रेणी में पाया गया निश्चित रूप से यूट्यूब की पहुँच देश के सभी हिस्सों में बढ़ी है ओर ज्यादा से ज़्यादा एजुकेशन टेक्नोलॉजी कंपनी अब  यूट्यूब पर  अपनी उपस्थिति दर्ज करवा रही है।सरकारी परीक्षाओं की तैयारी करवाने वाले चैनल स्टडी आईक्यू के फाउंडर गौरव गर्ग के अनुसार हमने जब यूट्यूब चैनल्स के रूप में 2015 में सुरुवात की थी तो ये महज एक बॉंडिंग प्लेटफॉर्म था हालांकि यहाँ से मिली  प्रतिक्रियाओं ने हमे प्रेरित किया  उस समय यूपीएससी पीसीएस एसएससी ओर करंट अफेयर्स की तैयारी के लिए ज्यादा चॅनेल्स नही थे।हिंदी में कंटेंट की कमी थी जिससे हमें अपने यूजर्स की संख्या बढ़ाने में मदद मिली स्टडी आईक्यू के साथ साथ लर्न इंग्लिश विथ लेटस टॉक  वाई फाई स्टडी लर्न इंजिनीरिंग जैसे कई चैनल है जो अब स्टूडेंट को पढ़ाई में मदद कर रहे है।