राजनीतिक उथल पुथल कर बीच  कमजोर पी एम के अंदर की घुटन को।दिखाती फ़िल्म

स्टार कास्ट
अनुपम खेर
अक्षय खन्ना सुजैन बर्नेट अहाना कुमार
प्रोड्यूसर पेन इंडिया लिमिटेड 
सुनीलः बोहरा 
धवल गोंडा
फ़िल्म में डायरेक्टर विजय ने पीएम डॉ मनमोहन  सिंह और उनके सलाहकार के बीच के रिश्ते को बखूबी दिखाया है। अक्षय खन्ना ने संजय बारू के रॉल में जान डाल दी है अनुपम।खैर ने बढ़िया एक्टिग की है।
विजय गुट्टे के निर्देशन में बनी द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह की।लाइफ पर बेस्ड है। यह उन्ही के सलाहकार संजय बारू की 2014 में आई किताब द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर पर आधारित है। फ़िल्म में अक्षय खन्ना ने संजय बारू का रोल अदा किया है और उस पूरी फिल्म में वही मनमोहन सिंह की।कंहानी सुनाते नज़र आते है। फ़िल्म 2004 से 2008 तक सत्तारूढ़ दल।के कुछ रहस्यों को सामने लाने का प्रयास करती है। इस दौरान डॉ मनमोहन सिंह।प्रधानमंत्री थे प्रधानमंत्री जिसे एक।प्रतिभाशाली लेकिन कमजोर प्रधानमंत्री के रूप में चित्रित  किया  गया।जो अंत में प्रधानमंत्री सोनिया गांधी।के हाथों की कठपुतली बन कर रह गए। वास्तव में फ़िल्म सोनिया राहुल गांधी और उनके करीबी सलाहकारों को क्रूर महत्वाकांशी ओर  अभिमानी राजनीतिक खिलाड़ियों के रूप में चित्रित करती है जबकि मनमोहन सिंह को।ऐसे व्यक्ति के रूप में दिखाया गया है जो देश के लिए अच्छा करने का इरादा रखता है लेकिन गांधी परिवार की ओर से लगातार दवाब ओर मेंनुप्लेट स्किल्स की स्किल्स की वजह से वास्तव में ऐसा नही कर पाता.।
फ़िल्म।की सबसे अच्छी बात कलाकारों का  अभिनय है  सोनिया गांधी की भूमिका निभाने वाली सुजैन बर्नेट शनदार है। लीड रोल में अनुपम खेर  मनमोहन की तरह ही दिखते बोलते है। फ़िल्म।में कई छोटी बड़ी घटनाओं को बारीकी से पेश किया गया है।