वृक्षों  से  हैं जीवन। 

वृक्षों  से  हैं जीवन | Hindi Article | Neera Jain


वृक्षों  से  हैं जीवन। वृक्ष हमे जीवन देते हैं सुकून देते हैं।   हमारा तनाव हरते हैं और बदले में हम क्या कर रहे हैं !उन्हें तनाव दे रहे हैं और उनका जीवन ले रहे हैं !क्या यही विकास की प्रक्रिया हैं !पेड़ पोधे मानव के जीवन के लिए बहुत मायने रखते हैं। पेड़ पारिस्थतिकी को संतुलित रखने ,मिटटी का कटाव रोकने और विभिंन संसाधन प्रदान करने में विशेष भूमिका निभाते हैं। वृक्ष हमारे लिए ही नहीं जीव जन्तुओ के लिए भी बेहद जरुरी हैं। वृक्ष पर्यावरण में कार्बन का संतुलन  बनाए रखते  है।  वृक्ष  पानी  के चक्र को भी बरक़रार रखते हैं। घने पेड़ बदलो को आकर्षित करके बारिश लेट हैं।  पेड़ जितना बड़ा होता हैं उसकी जड़े मिटटी को पकड़ने की उतनी हीअधिक   क्षमता रखती हैं। उससे भू जल स्तर  भी बन रहता हैं।  पेड़ों के अभाव पानी के प्रकतिक स्रोत भी सूखते जाते है। वृक्ष वायुमण्डल में ठंडक बनाए रखने में मदद करते हैं। जो सूरज की तेज़ धुप को रोकते हैं तथा वायुमण्डल की नमी भी बरकरार रखते हैं।  पेड़ों की ठंडक जितना सकून देती हैं उतनी हरियाली भी देती हैं।  वृक्षों  से हम  तनाव  रहित हो जाते हैं लेकिन हमारी  लापरवाही इन्हे तनाव ग्रस्त कर देती हैं !व्रक्षो के जीवन के बारे में हम जरा भी सोचते नहीं हैं !हमारे लिए यह समझना  जरुरी  हैं कि पेड़ों  के कारन ही हम अपने घरों में चैन की नींद सो पाते हैं। पेड़ शोर शराबे और ध्वनि तरंगो को रोकते हैं। पेड़ हमारे लिए  कितना कुछ करते हैं।  इसलिए हमारा भी  कर्त्तव्य हैं हम वृक्षों को बचाए इन्हे जीवन दे ! हर मानव  पौधा जरूर लगाना चाहिए।  



नीरा जैन