पिता मेरे गुरु है सर्वस्व है मेरे |Father जीवन देने वाले माता पिता का गुरु से ज्यादा महत्व है

पिता मेरे गुरु है सर्वस्व है मेरे |Father जीवन देने वाले माता पिता का गुरु से ज्यादा महत्व है

पिता मेरे गुरु है सर्वस्व है मेरे cमेरी ताकत है सम्मान है मेरी पहचान है। पिता की हमेशा ऋणी रहूंगी आज मेरी पहचान मेरी खुशी मेरा अस्तित्व उनकी वजह से है पिता की हर बात एक सुझाव हर हाँ के हर ना के सभी मायने समझ मे आ रहे है। पिता अपने बच्चो की बांहे थामे स्कूल कॉलेज...
गोपालदास नीरज|कारवां गुज़र गया, गुबार देखते रहे

गोपालदास नीरज|कारवां गुज़र गया, गुबार देखते रहे

                                                                गोपालदास नीरज कारवां गुज़र गया, गुबार देखते रहे। गोपाल दास नीरज के निधन पर हार्दिक श्रद्धांजलि। गोपालदास नीरज (जन्म: 4 जनवरी 1925), हिन्दी साहित्यकार, शिक्षक एवं कवि सम्मेलनों के मंचों पर काव्य वाचक एवं...
महात्मा गौतम बुद्ध|Thoughts एक यात्रा

महात्मा गौतम बुद्ध|Thoughts एक यात्रा

                                          महात्मा गौतम बुद्ध   संसार के धर्म-प्रचारकों में एक दैदिप्यमान  प्रकाश स्तम्भ की तरह आकाश में अपना प्रकाश ढाई हजार वर्षों से समस्त संसार में बिखेरने वाले एक ही महापुरुष हुए हैं ,जिन्होंने अपने शिष्यों (अनुयाइयों) को वैचारिक...
इरफान_खान  उम्मीद_की_ओस|Life Motivational

इरफान_खान  उम्मीद_की_ओस|Life Motivational

इरफान_खान  उम्मीद_की_ओस   इस ख़त की कोई भूमिका नहीं हो सकती। इरफ़ान (Irrfan), जिनके सिरहाने की एक तरफ़ ज़िंदगी है और दूसरी तरफ़ अंधेरा, ने आत्मा की स्याही से यह ख़त लिखा है। उम्मीद की ओस। एक काव्यमय दर्शन। जब आंख ही से न टपका तो फिर लहू क्या है! यह ख़त इरफ़ान भाई...
पिता मेरे  आदर्श | My Inspiration father

पिता मेरे आदर्श | My Inspiration father

पिता मेरे आदर्श पिता   क्या कहूँ  ? पिता मेरा संबल है कभी मुझसे कुछ नही कहते पर हमेशा मुझे लगता बहुर्त प्यार करते मुझसे आज मुझे जो पहचान और नाम मिला वी सिर्फ उनके द्वारा दी गईं शिक्षा और संस्कारी की बदौलत ।मेरे अंदर इतना जो आर्मविश्वास ओर उत्साह ऊर्जा है ये सब उन्ही...