हिंदी कविता|Save  Girl  Child  पिता की सांस बेटियां, जीवन की आस बेटियां। हाथों की लकीर बेटियां ऊंचाइयों को छू जातीं बेटियां, हौसला बढ़ा जातीं बेटियां

हिंदी कविता|Save Girl Child पिता की सांस बेटियां, जीवन की आस बेटियां। हाथों की लकीर बेटियां ऊंचाइयों को छू जातीं बेटियां, हौसला बढ़ा जातीं बेटियां

हिंदी कविता|Save Girl Child Betiyan तो आने वाला सुनहरा कल होती है, उनकी हमेशा इज्जत करनी चाहिए और सम्मान देना चाहिए. आज पुरुष प्रधान समाज होने के बावजूद भी बेटियां पुरुषो के साथ हर छेत्र में कंधे से कंधा मिला कर चल रही है बल्कि उनसे कही ज्यादा अच्छा काम कर रही...
Publish Views \ neera  jain महिला सशक्तिकरण |Womem Empowerment

Publish Views \ neera jain महिला सशक्तिकरण |Womem Empowerment

महिला सशक्तिकरण में ये ताकत है कि वो समाज और देश में बहुत कुछ बदल सकें। वो समाज में किसी समस्या को पुरुषों से बेहतर ढ़ंग से निपट सकती है। वो देश और परिवार के लिये अधिक जनसंख्या के नुकसान को अच्छी तरह से समझ सकती है। अच्छे पारिवारिक योजना से वो देश और परिवार की आर्थिक...
प्रेम बांटने से विकसित होता है, लुटाने से विकसित होता है। | परिवर्तन काः मौन।Hindi Article

प्रेम बांटने से विकसित होता है, लुटाने से विकसित होता है। | परिवर्तन काः मौन।Hindi Article

  परिवर्तन काः मौन। जो चुप नहीं हो सकता वह जीवन को कभी भी नहीं बदल सकता है। गहरी चुप्पी में ही, गहरे मौन में ही, गहरे साइलेंस में ही मनुष्य के भीतर क्रांति की, आत्म-परिवर्तन की क्षमता के दर्शन होते हैं। इतनी विराट शक्ति का अनुभव होता है कि कुछ भी बदला जा सकता है। इतनी...
पिता का है अभिमान  बेटी अनमोल है Hindi Poem

पिता का है अभिमान  बेटी अनमोल है Hindi Poem

पिता का है अभिमान  बेटी अनमोल है क्यों बेटी को कोख में ही मार दिया जाता क्या उसकी यही नियति है कि  वह एक लड़की है  वह डरी हुई सहमी सी है  हां अब उसे भी एहसास हो गया  कि वह सुरक्षित नहीं  मत मारो बेटी को कोख में  इनको भी है जीने का अधिकार नहीं है बेटे से कम  बेटी भी है...