रिश्तो को    टूटते बिखरते देखा हैं | Hindi Kavita  हिंदी कविता 

रिश्तो को    टूटते बिखरते देखा हैं | Hindi Kavita हिंदी कविता 

कहते है  बढ़ने के लिए    बदलना जरुरी हैं    मैंने हर दिन ज़माने को    रंग बदलते देखा हैं  वक्त के साथ जिंन्दगी    को रंग बदलते देखा हैं  स्वार्थ की खातिर रिश्तो को    टूटते बिखरते देखा हैं     पैसो की खातिर ईमान   बदलते देखा हैं   आगे बढ़ने की खातिर अपनों  को छलते  देखा...
दर्द | Hindi Poem  दर्द से मेरा सामना हो गया

दर्द | Hindi Poem दर्द से मेरा सामना हो गया

दर्द         दर्द से मेरा सामना हो गया हां वह दर्द मेरे ही अश्रु को  चुपचाप पी गया हां मेरे आंसुओं को देख वह भी मौन हो गया हां सांग मेरे वह भावविभोर हो गया दर्द मुझसेहने लगा मुझ पर भरोसा  करो क्रंदन तू क्यों करती है , साया हमेशा बना रहूंगा तेरा आजीवन साथ निभाऊंगा...
खुशियाँ बेशुमार हो| Hindi Poem

खुशियाँ बेशुमार हो| Hindi Poem

खुशियाँ बेशुमार हो खुशियाँ बेशुमार हो मौसम खुशगवार हो आया  बसंत तुम्हारे जीवन मे सुख हो अनंत फूलों की खुशबू से सुगंधित रहे  सीमा संग अपनो का प्यार हो निश्चल तुम्हारा व्यवहार दिल मे जिसके बसती मृदुलता सरलता अपार हर दिन आसान हो हर राह पर खुशियां हो समंदर की तरह  दिल है...
प्यारा है जीवन| Hindi Poem love life

प्यारा है जीवन| Hindi Poem love life

प्यारा है जीवन     कभी छांव कभी धूप सा जीवन  पर लगे न्यारा न्यारा यह जीवन  कभी तपती रेत सा  कभी कलकल बहती नदी सा फिर भी लगे यह जीवन प्यारा कभी प्यार का सैलाब कभी खुशियों की सौगात कभी नफरत की दीवार पर लगे हैं यह जीवन  प्यारा प्यारा कोई ना जान कर भी सब...