ख़ामोशी |Hindi Kavita तुमने जो कहा वो  शायद  मैं समझ न पाई

ख़ामोशी |Hindi Kavita तुमने जो कहा वो  शायद  मैं समझ न पाई

ख़ामोशी     तुमने जो कहा वो  शायद  मैं समझ न पाई  और जो मैंने समझा चाहा      तुमने कहा नहीं।  और न जाने कहने सुनने में  कितने दिन यूँ  ही निकल  गए  या फिर हमे एक दूसरे को समझने में  पूरी जिंदगी बीत जाये।   लेकिन अगर फिर भी एक दिन  तुम मुझे समझ सको तो  मेरे जीवन को एक...
खुशी happiness  motivational

खुशी happiness motivational

   खुशी happiness जीवन मे खुशी के पांच मूलमंत्र हमेशा औपचारिक  न बने जरूरत से ज्यादा औपचारिकता आदमी को नीरस बनाती है इसलिए खुद को सरल  और सहज रखे ।स्वाभाविकता के साथ जीना सीखे।हमे  तनाव औऱ  डिप्रैशन क्यों होता है क्योंकि हम आत्मीयता के साथ जीना भूल रहे है  इसकी...
      गज़ल |  बाते दिल की हमे भी बताया कीजिये motivational

      गज़ल | बाते दिल की हमे भी बताया कीजिये motivational

                                गज़ल  बाते दिल की हमे भी बताया कीजिये । कोई बात न हमसे छुपाया कीजिये। कहते हो तुम  जान भी हैं तुम्हारी। पर अब यू न मुझे सताया कीजिये। हूँ कसूरवार, तुम्हारी माफ करो तुम  पर जरा सी बात पर यूं न रूठा कीजिये। कभी प्यार का इज़हार  तुम  करो।...
साबरी  बंधुओ की शानदार प्रस्तुति शाम  ए  मौसिकी कार्यक्रम  में

साबरी  बंधुओ की शानदार प्रस्तुति शाम ए  मौसिकी कार्यक्रम  में

शकुंतला देवी तलवार की स्मृति में  प्रेसक्लब सभागार में आयोजित “शाम-ए-मौसिकी” कार्यक्रम में साबरी बंधुओं ने कव्वाली के शानदार रंग जमाए। ç शकुंतला देवी तलवार की स्मृति में कल प्रेसक्लब सभागार में आयोजित “शाम-ए-मौसिकी” कार्यक्रम में साबरी बंधुओं...
   मै बेटी हूँ।  मेरा क्या कसूर है। Save Girl Child

   मै बेटी हूँ।  मेरा क्या कसूर है। Save Girl Child

                                                                     मै बेटी हूँ।        बेटी बेटी की प्यार को कभी आजमाना नहीं, वह फूल है, उसे कभी रुलाना नहीं, पिता का तो गुमान होती है बेटी, जिन्दा होने की पहचान होती है बेटी                 मेरा क्या कसूर है।  क्या...