कविता की डोर राजस्थान की ओर  काव्य गोष्टी |साहित्य गतिविधि

कविता की डोर राजस्थान की ओर  काव्य गोष्टी |साहित्य गतिविधि

कविता की डोर राजस्थान की ओर  काव्य गोष्टी कविता में के भावों को अभिव्यक्त करती है ।कविता एक सवाल खड़ा करती है कवि मन बहुत संवेदनशील होता है वो समाज मे जो भी अच्छाई या बुराई देखता है वो अपनी संवेदनाओं को  कविता के माध्यम से अभिव्यक्त करता है  कायाकल्प  सहित्यक  संस्थान...
कलमकार मंच साहित्य यात्रा भोपाल |Travel  साहित्य काव्यगोष्ठी

कलमकार मंच साहित्य यात्रा भोपाल |Travel साहित्य काव्यगोष्ठी

कलमकार मंच साहित्य यात्रा भोपाल साहित्यकार  किसी भी समाज और संस्कृति  को सच्चाई के साथ दिखाता है वही सच्चा साहित्यकार है। साहित्य की शुद्धता  बनी रहे और अपनी कलम से समाज मे फैली बुराइयों को दूर कर सके यही उसका प्रयास रहता है। : इसी क्रम में  कलमकार मंच से जुड़ना जो...
हिंदी कविता |माटी के नन्हे दीप  Motivational

हिंदी कविता |माटी के नन्हे दीप Motivational

दीप नन्हा दीप माटी का जलता अँधियारो में  मन के भेद मिटा दे  प्यार के भाव जगा दे प्रेम और सौहार्द की गंगा  बहा दे माटी के नन्हे  दीप ज्योतिर्मय हो हर  दिशा खुशनुमा हो।हर पल गाँव गाँव द्वार द्वार  हो तुम्हारा स्वागत माटी के नन्हे दीप मन के दीप सतरंगी छटा यू ही सजती रहे...
मंज़िले|हिंदी कविता

मंज़िले|हिंदी कविता

मंज़िले हर लम्हा मै  सफलता औऱ विफलता के  मध्य झूलती रहती हूं जीवन विफलताओं से भरा हैं सफलता जब भी मेरे निकट आई मैं स्वयं ही उससे दूर हो गई। मन में थी एक बैचैनी साथ मे कई सवाल क्या मुझे सिर्फ सफल बनना है बनानी है अपनी पहचान  लोग जिसे कहते विफलता  मंज़िले वही मेरे लिये...
नारी मन | Women Empowerment

नारी मन | Women Empowerment

नारी मन    उठता है मन  में इक सवाल  मनमें इक हूक। सहके जुल्म क्यों रहती  नारी खामोश अब तक मूक। नही सुहाते अब मुझे पायल कँगना चाहे कुछ कहे ये जमाना। हिय में नेरे प्यास जगी सितारों को पाने की आस लगी। चाँद को आँचल में समेटने की ठानी । छोड़ घूँघट तोड़ बेड़ियां बन परवाज उड़ने...